Saturday, 30 August 2014

चाँद बेचारा



चाँद बेचारा
बनता बिखरता
वक़्त का मारा
-विशाल सर्राफ धमोरा